वीडियो

श्री राजेश्वर भगवान की आरती

ॐ जय गुरुदेव हरे प्रभु जय गुरुदेव हरे।
अधम उधारन कारण भक्ति बधावन कारण संतन रूप धरे ।
ॐ जय गुरुदेव हरे प्रभु जय गुरुदेव हरे।
श्वेत वस्त्र शोभित गल बिच फुल माला,

श्री रामजी भजन

श्री राम स्तुति

श्री रामचंद्र कृपालु भज मन हरण भवभय दारुणम् |
नव कंजलोचन कंजमुख करकंज पदकंजारुणम् ||

कंदर्प अगणित अमित छवि नवनील नीरद सुन्दरम् |
पट पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम ||

भज दीनबंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम् |
रघुनंद आनंद कंद कौसल चंद दशरथ नन्दनम् ||

सिर मुकुट कुंडल तिलक चारु उदार अंग विभूषणम् |
आजानु भुज शरचाप धर संग्रामजित खर दूषणम् ||

इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम् |
मम ह्रदय कंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम् ||

श्री नरेंद्र मोदीजी सम्बोधित करते हुए

पूज्यनीय संत श्री किशनाराम जी महाराज देवलोक होने पर आयोजित सत्रहवीं में देश के प्रधानमंत्री (तत्कालीन मुख्यमंत्री, गुजरात सरकार) श्री नरेंद्र मोदीजी सम्बोधित करते हुए..!