धर्म- कर्म

‘मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम को जानकर उनके अनुसार अपना जीवन बनाने का संकल्प लेने का पर्व है रामनवमी’

रामनवमी के अवसर पर...

समाज में गुरु का महत्व

सनातन धर्म में गुरु का स्थान भगवान से भी सर्वोच बताया गया है । परमात्मा को प्राप्त करने का मार्ग गुरु ही बताते है और यदि गुरु समाज का आराध्य हो तो उसका कहना ही क्या ..?

आंजना समाज की परंपराए

आंजना समाज की परंपराए

आंजणा जाती अंजना चौधरी के रूप में जान जाती है। अंजना को, "Kalbi" सो भी जानते हैं । भारत में राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में पाय जाती एक हिंदू जाति है। उन्होंने यह भी विशेष रूप से गुजरात और राजस्थान, और राजस्थान में जागीरदार, जमींदार या Chudhary ओर पटेल के रूप में जाना जाता है। अंजना चौधरी की जाति गुरु संत श्री Rajaramji महाराज (विष्णु के अवतार) है। बिग मंदिर और आश्रम जोधपुर के पास, शिकारपुरा राजस्थान (लूनी) में हैं।

आस्था

Pages